Please wait...

Affluent Investors vs Other Investors

‘Hi, I came across this really nice video on the Franklin Templeton website. Check it out!’

Segregating investors on the amount of wealth they hold vis-à-vis their financial goals is a good way to assess the kind of financial advice they require. Basis this, investors can be divided into three broad categories- the affluent who are financially free, the retired who no longer have a source of professional income and the retail investors who are young and largely depend on their professional income for investments. Watch this video to understand why and how your advice to each client category must differ.

निवेशकों को उनके पास मौजूद पूंजी के मुकाबले उनके फ़ायनांशियल लक्ष्य के आधार पर अलग करना, यह जानने का एक अच्छा तरीका हो सकता है कि उन्हें किस तरह की फ़ायनांशियल सलाह चाहिए. इसके अलावा, निवेशकों को मोटे तौर पर तीन वर्गों में बांटा जा सकता है-अच्छी हैसियत वाले, जो कि आर्थिक रूप से आज़ाद हैं; रिटायर्ड, जिनके पास अब प्रोफेशनल आमदनी का कोई स्रोत नहीं है और रीटेल निवेशक, जो युवा हैं और निवेश के लिए मुख्य रूप से अपनी प्रोफेशनल आमदनी पर निर्भर हैं. इस वीडियो को देखिए और जानिए कि प्रत्येक क्लाइंट वर्ग के लिए आपकी सलाह अलग क्यों होनी चाहिए.

રોકાણકારોને તેઓ ધરાવે છે એ સંપત્તિની સાથે સાથે તેમના આર્થિક લક્ષ્યો આધારે અલગ તારવવા એ તેમને જરૂરી આર્થિક સલાહના પ્રકારનું વિશ્લેષણ કરવા માટેની યોગ્ય રીત છે. આ આધારે, રોકાણકારોને ત્રણ મુખ્ય શ્રેણીઓમાં વિભાજિત કરી શકાય છે - ધનવાન જેઓ આર્થિક રીતે સ્વતંત્ર છે, નિવૃત્ત લોકો જેઓ વ્યાવસાયિક આવકનો સ્રોત નથી ધરાવતા અને રિટેલ રોકાણકારો જેઓ યુવાન છે અને રોકાણ માટે વધુ કરીને પોતાની વ્યાવસાયિક આવક પર નિર્ભર રહે છે. દરેક શ્રેણીના ગ્રાહક માટે તમારી સલાહ શા માટે અને કઈ રીતે અલગ હોવી જોઈએ એ સમજવા આ વીડિયો જુઓ.

কী ধরনের আর্থিক পরামর্শ তাঁদের প্রয়োজন সেটা নির্ধারণ করতে, ধনসম্পদের পরিমাণের পাশাপাশি তাঁদের আর্থিক লক্ষ্যের ওপর ভিত্তি করে বিনিয়োগকারীদের পৃথক করে নেওয়া একটি ভালো উপায়| সেই অনুসারে, বিনিয়োগকারীদের তিনটি প্রশস্ত শ্রেণীতে ভাগ করা যায় - সমৃদ্ধশালী যাঁরা আর্থিকভাবে সাধীন, অবসরপ্রাপ্তরা যাঁদের পেশাদারী আয়ের আর কোনও উৎস নেই এবং খুচরো বিনিয়োগকারী যাঁরা তরুণ এবং বিনিয়োগ করার জন্য বেশির ভাগটাই নিজের পেশাদারী আয়ের ওপরই নির্ভর করে থাকেন| প্রতিটি ক্লায়েন্ট শ্রেণীর জন্য আপনার পরামর্শ কেন এবং কীভাবে আলাদা হবে সেটা বুঝতে এই ভিডিওটি দেখুন|

முதலீட்டாளர்களை அவர்களிடம் இருக்கும் செல்வம் மற்றும் அதேபோல அவர்களின் பணம் சம்பந்தமான இலக்குகள் இவற்றால் வகைப்படுத்துதல். அவர்களுக்கு என்ன நிதி ஆலோசனை தேவைப்படுகிறது என்பதை யூகித்திட ஒரு சிறந்த வழியாகும். இதன் அடிப்படையில் முதலீட்டாளர்களை மூன்று பெரிய வகைகளாக பிரிக்கலாம். அதாவது, பணம் சம்பந்தப்பட்ட கவலையே இல்லாத செல்வந்தர்கள், தொழில் ரீதியான வருமானம் இனி கிடைக்காது என்ற நிலையிலுள்ள ஓய்வு பெற்றவர்கள் மற்றும் முதலீடு செய்ய தங்கள் தொழில் ரீதியான வருமானத்தை சார்ந்திருக்கும் இளம் வயதினரான ரீடெய்ல் முதலீட்டாளர்கள். ஒவ்வொரு வகை வாடிக்கையாளருக்கும் எவ்வாறு மற்றும் ஏன் உங்கள் ஆலோசனை வித்தியாசமாக இருக்க வேண்டும் என்பதை புரிந்து கொள்ள இந்த வீடியோவை பாருங்கள்.