Please wait...

The Arithmetic Of Wealth Creation

‘Hi, I came across this really nice video on the Franklin Templeton website. Check it out!’

The wealth that any investor accumulates is the sum total of what he invests, what he earns on his investments and the time he remains invested. If an investor does not save enough and delays investment, he pays a significant cost. There is also a significant impact of not earning enough and reinvesting what he has earned. It is therefore of utmost necessity for an investment advisor to understand the arithmetic of wealth creation to explain it lucidly to his clients to help them make informed investment decisions. In this video, we explain the arithmetic of wealth creation through various relevant examples.

कोई निवेशक जो संपत्ति बनाता है, उसमें तीन चीजों का योगफल होता है वह जो रकम निवेश करता है, अपने निवेश पर वो जो कमाता है और जितने समय तक वह निवेशित रहता है. अगर कोई निवेशक पर्याप्त बचत नहीं करता है और निवेश शुरू करने में देर करता है तो उसे इसकी कीमत चुकानी पड़ती है. पर्याप्त कमाई न करने और जो कमाया है उसका पुन: निवेश न करने का भी काफी प्रभाव पड़ता है. इसलिए निवेश सलाहकार के लिए संपत्ति सृजन के अंकगणित को समझना बहुत ज़रूरी है ताकि वह अपने क्लाइंट्स को इसके फ़ायदे समझा सके और फिर वे जानकारी के साथ निवेश संबंधी निर्णय ले सकें. इस वीडियो में हम उचित उदाहरणों के साथ संपत्ति सृजन के अंकगणित को समझाने जा रहे हैं.

કોઈપણ રોકાણકાર દ્વારા ભેગી કરાતી સંપત્તિ એ તેણે કરેલા રોકાણ, રોકાણ પર તેણે મેળવેલી આવક અને તે કેટલો સમય રોકાણ જાળવી રાખે છે તેનો કુલ સરવાળો છે. જો રોકાણકાર પૂરતી બચત ન કરે અને રોકાણમાં વિલંબ કરે તો તેણે નોંધપાત્ર કીમત ચૂકવવી પડે છે. ઉપરાંત, પૂરતી આવક ન મેળવવા અને જે આવક મેળવી છે તેનું પુન:રોકાણ ન થઈ શકવાની પણ નોંધપાત્ર અસર થાય છે. એટલે રોકાણ સલાહકાર માટે સંપત્તિ નિર્માણના અંકગણિતને સમજવું ખૂબ જ મહત્વનું છે જેથી પોતાનાં ગ્રાહકોને તે સ્પષ્ટ રીતે સમજાવી શકે અને તેમને સૂચિત રોકાણ નિર્ણયો કરવામાં મદદરૂપ બની શકે. આ વીડિયોમાં અમે વિવિધ સુસંગત દૃષ્ટાંતો દ્વારા સંપત્તિ નિર્માણના અંકગણિત વિશે સમજાવીએ છીએ.

একজন বিনিয়োগকারী যা ধনসম্পদ জমিয়েছেন তা হল তিনি কী বিনিয়োগ করেছেন, তিনি বিনিয়োগগুলি থেকে কী আয় করছেন এবং তিনি কতটা সময় বিনিযোগকৃত থাকবেন সেগুলির মোট মূল্য| যদি কোনও বিনিয়োগকারী যথেষ্ট সঞ্চয় না করে থাকেন এবং বিনিয়োগ করতে দেরি করেন তাহলে তাঁকে যথেষ্ট মূল্য দিতে হয়| যথেষ্ট আয় না করা এবং যা আয় করেছেন সেটিকে পুনরায় বিনিয়োগ না করার ফলেও পড়ে উল্লেখযোগ্য প্রভাব| সুতরাং, ধনসম্পদ সৃষ্টির অঙ্কটিকে ভালোভাবে বুঝে, তাকে সহজভাবে তাঁর ক্লায়েন্টের কাছে ব্যাখ্যা করে অবগত- বিনিয়োগের সিদ্ধান্ত নিতে সাহায্য করাই হল একজন বিনিয়োগ উপদেষ্টার সর্বাধিক প্রয়োজনীয়তা| এই ভিডিওটিতে, বিভিন্ন প্রাসঙ্গিক উদাহরণের মাধ্যমে আমরা বোঝাবো ধনসম্পদ সৃষ্টির অঙ্ক|

எந்த ஒரு முதலீட்டாளரும் சேர்க்கும் செல்வம் என்பது, அவர் எதில் முதலீடு செய்கிறார், மற்றும் அவரது முதலீட்டின் பேரில் என்ன வருமானம் பெறுகிறார் மற்றும் எவ்வளவு காலத்திற்கு அவர் முதலீடு செய்கிறார் என்பதின் மொத்தம் ஆகும். ஒரு முதலீட்டாளர் போதிய அளவில் சேமிக்கவில்லை என்றால் மற்றும் முதலீட்டை தாமதப்படுத்துகிறார் எனில் அவருக்கு அது குறிப்பிடத்தக்க விதத்தில் பாதிப்பை ஏற்படுத்தும். மேலும் போதிய அளவு சம்பாதிக்கவில்லை என்றால் மற்றும் அவர் சம்பாதித்ததை மறுமுதலீடு செய்யவில்லை என்றால், ஒரு குறிப்பிடத்தக்க விளைவும் இருக்கும். எனவே வாடிக்கையாளர்களுக்கு அவர்கள் தகவல் அறிந்து முதலீட்டு தீர்மானங்களை செய்வதற்கு உதவிட தெளிவாக விளக்கும் விதத்தில் செல்வம் உருவாக்குதல் பற்றிய கணக்கு முறையை புரிந்துகொள்ள ஒரு முதலீட்டு ஆலோசகர் இது பற்றி நன்கு புரிந்து கொள்வது முக்கியம். இந்த வீடியோவில் பல்வேறு தக்க உதாரணங்கள் மூலம் செல்வம் உருவாக்குதல் பற்றி கணிதரீதியான முறைகளை நாங்கள் விளக்குகிறோம்.