Please wait...

SIP Or Lump Sum - Which Is Better?

‘Hi, I came across this really nice video on the Franklin Templeton website. Check it out!’

Investors in Mutual Funds often face a dilemma about which is a better mode of investing in Mutual Funds - lump sum or Systematic Investment Plans known as SIPs. An SIP allows an investor to invest a fixed amount of money at regular intervals. It also gives the advantage of averaging the cost of units besides providing benefits of compounding. However, there may be situations when you would prefer to invest a lump sum. This short video helps you to understand both strategies better.

म्यूच्युअल फ़ंड्स के निवेशक अक्सर दुविधा में रहते हैं कि म्यूच्युअल फ़ंड्स में निवेश करने का कौन सा तरीका बेहतर है-एकमुश्त भुगतान या सिस्टेमैटिक इंवेस्टमेन्ट प्लान्स, जिन्हें एसआईपी के नाम से जाना जाता है. एसआईपी में निवेशक के पास नियमित अंतराल पर एक निश्‍चित रकम निवेश करने का विकल्प है. इससे यूनिट्स की लागत के औसतीकरण का लाभ भी मिलता है और कंपाउन्डिंग का भी. हालांकि, ऐसी स्थितियां भी हो सकती हैं, जब आप एकमुश्त रकम का निवेश करना चाहें. यह वीडियो आपको इन दोनों रणनीतियों को बेहतर तरीके से समझने में मदद करेगा.

મ્યુચ્યુઅલ ફંડ્સ રોકાણકારો હંમેશા એ મૂંઝવણ અનુભવે છે કે મ્યુચ્યુઅલ ફંડ્સમાં રોકાણ કરવાની કઈ રીત શ્રેષ્ઠ છે, લમ્પસમ કે પછી સિસ્ટમેટિક ઈન્વેસ્ટમેંટ પ્લાન જે એસઆઈપી તરીકે પણ ઓળખાય છે. એસઆઈપી રોકાણકારને નિયમિત અંતરાળે નિશ્ર્ચિત રકમનું રોકાણ કરવાની તક આપે છે. એટલું જ નહીં, તે ચક્રવૃદ્ધિનો લાભ પૂરો પાડવા ઉપરાંત યુનિટના ખર્ચને સરેરાશ કરવાનો લાભ પણ પૂરો પાડે છે. જોકે, એવી પરિસ્થિતિઓ પણ હોઈ શકે છે જ્યારે તમે લમ્પસમમાં રોકાણ કરવાનું પસંદ કરી શકો છો. આ ટૂંકો વીડિયો તમને આ બંને નીતિઓને સારી રીતે સમજવામાં સહાયક બનશે.

মিউচুয়াল ফান্ডে বিনিয়োগকারীরা মিউচুয়াল ফান্ডে বিনিয়োগের জন্য কোনটা ভালো উপায় হবে তা নিয়ে প্রায়শই একটি উভয়সঙ্কটে পড়েন - এক থোকে না এসআইপি নামে পরিচিত সিস্টেমেটিক ইনভেস্টমেন্ট প্ল্যানে| একটি এসআইপি একজন বিনিয়োগকারীকে নিয়মিত ব্যবধানে একটি নির্দিষ্ট রাশি বিনিয়োগ করায়| ইউনিটের গড় ব্যয়ের সুবিধার সাথে এটি দেয় কম্পাডিংয়ের সুবিধাও| যদিও, কোনও কোনও পরিস্থিতিতে আপনি এক থোকে বিনিয়োগ করতেও পছন্দ করেন| দুটি কৌশলকেই আরও ভালো করে ৱুঝতে সাহায্য করবে এই ছোট ভিডিওটি|

மியூச்சுவல் ஃபண்ட்களின் முதலீட்டாளர்கள் பெரும்பாலும் மியூச்சுவல் ஃபண்ட்களில் முதலீடு செய்யும் நிலையில், அவற்றில் எது சிறந்தது என்று சிந்தித்து குழப்பமடைகின்றனர். எஸ்ஐபி என்பது ஒரு முதலீட்டாளர், குறிப்பிட்ட கால இடைவெளியில் ஒரு நிலையான தொகையை முதலீடு செய்வதாகும். மேலும் காம்பவுண்டிங் எனப்படும் கூட்டு திறன் சக்தியின் நன்மைகளை அளிப்பதோடு யூனிட்களின் விலைகளை சராசரிப்படுத்தும் நன்மையையும் இது தருகிறது. ஆனால் சில நேரங்களில் நீங்கள் மொத்தமாக ஒரு தொகையை முதலீடு செய்ய விரும்பலாம். இந்த இரண்டையும் பற்றி நன்கு புரிந்து கொள்ள இந்த சிறிய வீடியோ உங்களுக்கு உதவும்